Jansandesh online hindi news

Sunrise Over Ayodhya: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद पर कोर्ट ने दिखाई सख्ती, दिए FIR के आदेश

सलमान खुर्शीद ने अपनी इस किताब में विवादित शब्दों का प्रयोग किया है और इस कारण उन पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है. एसीजेएम कोर्ट ने उन पर एफआईआर के आदेश दिए हैं. एसएचओ बख्शी ने तीन दिन में एफआईआर दर्ज करके रिपोर्ट की कॉपी कोर्ट में भेजने का आदेश दिया है. इसके अलावा खुर्शीद पर यह भी अरोप है कि उन्होंने एक अपने एक इंटरव्यू में  हिंदुत्व की तुलना जानवर और हैवान से की है.

 | 
Sunrise Over Ayodhya: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद पर कोर्ट ने दिखाई सख्ती, दिए FIR के आदेश

लखनऊ. कांग्रेसी नेता सलमान खुर्शीद अपनी किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन आवर टाइम्स’ (Sunrise Over Ayodhya: Nationhood in Our Times) के कारण मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं. इस किताब में हिंदु धर्म और हिंदुत्व की तुलना उन्होंने आतंकी संगठन बोको हरम और आईएसआईएस से की है. सलमान खुर्शीद ने अपनी इस किताब में विवादित शब्दों का प्रयोग किया है और इस कारण उन पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है. एसीजेएम कोर्ट ने उन पर एफआईआर के आदेश दिए हैं. एसएचओ बख्शी ने तीन दिन में एफआईआर दर्ज करके रिपोर्ट की कॉपी कोर्ट में भेजने का आदेश दिया है. इसके अलावा खुर्शीद पर यह भी अरोप है कि उन्होंने एक अपने एक इंटरव्यू में  हिंदुत्व की तुलना जानवर और हैवान से की है.

गौरतलब है कि किताब के पेज नम्बर 113 पर ‘द सैफरोन स्काई’ शीर्षक में यह विवादित शब्द लिखे हुए. इससे हिंदु धर्म से जुड़े सभी लोगों ने नाराजगी जाहिर की है. गौरतलब है कि इससे पहले इस किताब पर आपत्ति करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट में भी एक याचिका दर्ज की गई थी. लेकिन दिल्ली हाईकोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें कहा गया था कि पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद (Salman Khurshid) की विवादास्पद किताब के प्रकाशन, प्रसार और बिक्री को रोक दिया जाए.

याचिका में कहा गया था कि किताब के ऐसे अंश नकारात्मकता फैलाते हैं. साथ ही हिंदु धर्म की छवि को भी नुकसान पहुंचाते हैं. इस तरह की किताबों पर तुरंत रोक लगनी चाहिए. उधर, कोर्ट ने इस पर कहा था कि अगर लोग इतने संवेदनशील हैं तो हम क्या कर सकते हैं? आखिर किसी ने उन्हें इसे पढ़ने के लिए नहीं कहा है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।