Jansandesh online hindi news

फेसबुक पर मिला टीचर को 200 रुपये की एक थाली के साथ दो थाली फ्री ऑफर, फिर खाते से उड़ गई इतनी बड़ी रकम

फ्री की थाली यानी मुफ्त का खाना भला किसे नहीं अच्छा लगता. इन बातों से इतर अगर यही थाली हजारों रुपये की पड़ जाए तो किसी के भी होश उड़ जाएंगे. दरअसल मेरठ (Meerut) में एक स्कूल टीचर के साथ ऐसा ही हुआ. फ्री की थाली के चक्कर में उन्हें 53 हजार रुपये का नुकसान हो गया. स्कूल में पढ़ाने वाली टीचर दरअसल साइबर क्राइम का शिकार हुईं.  

 | 
फेसबुक पर मिला टीचर को 200 रुपये की एक थाली के साथ दो थाली फ्री ऑफर, फिर खाते से उड़ गई इतनी बड़ी रकम

मेरठ: एक कहावत है कि दान की बछिया के दांत नहीं गिने जाते हैं. इसी तरह फ्री की थाली यानी मुफ्त का खाना भला किसे नहीं अच्छा लगता. इन बातों से इतर अगर यही थाली हजारों रुपये की पड़ जाए तो किसी के भी होश उड़ जाएंगे. दरअसल मेरठ (Meerut) में एक स्कूल टीचर के साथ ऐसा ही हुआ. फ्री की थाली के चक्कर में उन्हें 53 हजार रुपये का नुकसान हो गया. 

स्कूल में पढ़ाने वाली टीचर दरअसल साइबर क्राइम का शिकार हुईं. खुद को 53 हजार की चपत लगने का पता उन्हें तब चला जब इतनी बड़ी रकम उनके खाते से साफ हो गई. ऑनलाइन ठगी का पता चलने के बाद परेशान टीचर सिटी पुलिस की साइबर सेल पहुंची और अपनी शिकायत दर्ज कराई. 

शहर के नामी स्कूल में पढ़ाने वाली विनीता चौबे ने अपनी एफआईआर (FIR) में बताया कि उनके फेसबुक अकाउंट पर एक होटल की तरफ से खाने का ऑफर आया था. जिसमें एक थाली के साथ दो थाली फ्री में मिल रही थी. एक थाली का रेट 200 रुपये था लेकिन थाली में खाने का मैन्यू दिए गए ऑफर के हिसाब से चुनना था.

उन्होंने दिए गए लिंक पर क्लिक करके जब और जानकारी हासिल करने की कोशिश की तो थोड़ी देर बाद आई फोन कॉल में उस ऑफर की जानकारी डिटेल में दी गई. इसी दौरान मैडम साइबर ठग (Cyber Thug) की बातों में आ गई और उन्होंने उसके दिये लिंक पर क्लिक कर दिया. दैनिक जागरण में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक शिक्षिका को अपने साथ हुई ठगी का पता चलते ही उन्होंने तेजी दिखाते हुए पुलिस तक अपनी शिकायत पहुंचाई.

पहले तो उनके बैंक अकाउंट से सिर्फ 10 रुपये कटे. उसके कुछ समय बाद में दो बार में 53 हजार रुपये कट गए. बैंक अलर्ट का मैसेज मोबाइल पर आया तो वो दंग रह गईं. टीचर ने फौरन बैंक के कस्टमर केयर नंबर पर फोन करके एकाउंट डिएक्टिवेट करवाया और संदिग्ध ट्रांजेक्शन की जानकारी पुलिस को भी दी. 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।