Jansandesh online hindi news

UP Assembly Election 2022 : मायावती का मास्टरस्ट्रोक, BSP विकास दुबे के शार्पशूटर की पत्नी ख़ुशी दुबे का केस लड़ेगी 

 | 
UP Assembly Election 2022
अयोध्या. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव-2022 (UP Assembly Election 2022) से पहले ब्राह्मण वोटर्स (Brahmin Voters) पर डोरे डाल रही बहुजन समाज पार्टी (BSP) अब बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) के साथी अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे (Khushi Dubey) की रिहाई के लिए कानूनी लड़ाई लड़ेगी. बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा खुशी दुबे केस की कोर्ट में पैरवी करेंगे. खुशी दुबे की शादी के तीन दिन बाद ही अमर दुबे को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था. खुशी पर हत्या और आपराधिक साजिश सहित आईपीसी की गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. फिलहाल खुशी बाराबंकी जिले के किशोर केंद्र में बंद हैं.

अयोध्या में 23 जुलाई से शुरू हो रहे बसपा के ब्राह्मण सम्मलेन की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे पूर्व मंत्री नकुल दुबे से जब इस बाबत सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि सतीश चंद्र मिश्रा एक वरिष्ठ वकील हैं और जो भी उनसे मदद मांगता है वे उनकी पैरवी करते हैं. अगर उन्होंने खुशी दुबे के वकालतनामा पर हस्ताक्षर किए हैं तो वह कोर्ट में उनकी पैरवी करेंगे. उन्होंने कहा कि किसी भी जाति या समुदाय का व्यक्ति अगर मदद मांगता है तो उसकी मदद की जाती है.

एक साल से जेल में बंद हैं ख़ुशी दुबे
गौरतलब है कि खुशी दुबे पिछले साल 8 जुलाई से जेल में बंद हैं और उन्हें अभी तक जमानत नहीं मिली है. उन्होंने जमानत के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया है. अब बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा खुशी दुबे की पैरवी कर उनकी रिहाई की मांग करेंगे. ख़ुशी दुबे की शादी के तीन दिन बाद ही विकास दुबे के शार्पशूटर अमर दुबे को पुलिस ने हमीरपुर में हुए एक एनकाउंटर में मार गिराया था. बिकरू कांड के बाद पुलिस ने खुशी दुबे को भी आरोपी बनाया है.