Jansandesh online hindi news

UP: CM YOGI ने महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि पर मांस बिक्री पर लगाई रोक

 | 
UP: CM YOGI ने महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि पर मांस बिक्री पर लगाई रोक

महावीर जयंती, बुद्ध जयंती ,गांधी जयंती ,शिवरात्रि और साधु टीएल वासवानी की जयंती के मौके पर नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मीट की दुकानें बंद रखी जाएंगी. यूपी सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि अहिंसा का संदेश देने वाले महापुरुषों और पर्वों को मद्देनजर इनकी जयंती को अहिंसा दिवस के रूप में मनाए जाने का निर्देश दिया गया है. 

लखनऊ. सूबे की योगी सरकार (Yogi Government) ने एक और महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए महापुरुषों की जयंती और शिवरात्रि (Shivratri) के मौके पर स्लॉटर हाउस (Slaughterhouse) और मांस की दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया है. इसी क्रम में 25 नवंबर को सिंधी समाज के संत टीएल वासवानी की जयंती के मौके पर प्रदेश भर में स्लॉटर हाउस और मीट की दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया गया है. नगरीय विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव रजनीश दुबे ने इस संबंध में सभी जिलों के मंडलायुक्त और जिलाधिकारी को आदेश जारी करते हुए इसका अनुपालन  सख्ती से करवाने का निर्देश दिया है.

जारी आदेश में नगरीय विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. रजनीश दुबे ने कहा कि आज टीएल वासवानी की जयंती है. सभी नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मीट की दुकानें बंद रखी जाएंगी. सभी अधिकारियों को आदेश का सख्ती से पालन करने के भी निर्देश दिए गए हैं.

आदेश में कहा गया है कि महावीर जयंती, बुद्ध जयंती ,गांधी जयंती, शिवरात्रि और साधु टीएल वासवानी की जयंती के मौके पर नगरीय निकायों में स्थित बूचड़खानों के अलावा मीट की दुकानें बंद रखी जाएंगी. इसके पीछे तर्क दिया गया है कि अहिंसा का संदेश देने वाले महापुरुषों और पर्वों के मद्देनजर इनकी जयंती को अहिंसा दिवस के रूप में मनाए जाने का निर्देश दिया गया है. गौरतलब है कि 2017 में सत्ता में आने के बाद ही योगी सरकार ने अवैध स्लाटर हाउस पर शिकंजा कस दिया था. साथ ही खुले में मांस की बिक्री पर भी रोक लगा दी थी.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।