Jansandesh online hindi news

UP Election: पोस्टर गर्ल डॉक्टर प्रियंका मौर्य का कांग्रेस पर आरोप, प्रियंका गांधी के सचिव ने टिकट देने के लिए मांगे पैसे

कैंपेन की पोस्टर गर्ल डॉक्टर प्रियंका मौर्य ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस में धांधली चल रही है। शुक्रवार को प्रियंका ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि, 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं पर टिकट नहीं पा सकी क्योंकि ओबीसी थी और घूस नहीं दे सकी।
 | 
UP Election: पोस्टर गर्ल डॉक्टर प्रियंका मौर्य का कांग्रेस पर आरोप, प्रियंका गांधी के सचिव ने टिकट देने के लिए मांगे पैसे

नोएडा ।कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी के महत्वाकांक्षी कैंपेन 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं' की पोस्टर गर्ल ने प्रियंका के ही सचिव पर टिकट देने के लिए घूस मांगने का आरोप लगाया है। कैंपेन की पोस्टर गर्ल डॉक्टर प्रियंका मौर्य ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस में धांधली चल रही है। शुक्रवार को प्रियंका ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि, 'लड़की हूं, लड़ सकती हूं पर टिकट नहीं पा सकी क्योंकि ओबीसी थी और घूस नहीं दे सकी प्रियंका गांधी के सचिव संदीप सिंह को कल। सबूत के साथ वीडियो है चैनल पर दिखेगा।' उन्होंने अगले ट्वीट में लिखा, पार्टी में जो धांधली चल रही है किसी को बोलने की हिम्मत नहीं है। कांग्रेस में जातिवाद के कारण नरेश सैनी को भी पार्टी छोड़नी पड़ी।

डॉ. प्रियंका का आरोप है कि उन्हें घूस नहीं देने पर सरोजिनी नगर विधानसभा सीट से टिकट नहीं दिया गया। लड़की हूं लड़ सकती हूं कैंपेन सिर्फ एक धांधली थी। लोग कहेंगे कि टिकट नहीं मिला तो ऐसा कर रहे। खुद जांच करें फिर बोलें, हमें तो 2024 की तैयारी करो ऐसा कहा जाने लगा। पर भाजपा के जुमलों को मात नहीं दे पा रही कांग्रेस।

बता दें कि डॉ. प्रियंका मौर्य लड़की हूं, लड़ सकती हूं कैंपेन का अहम चेहरा रही हैं। कैंपेन के सभी पोस्टरों में डॉ. मौर्य का चेहरा सबसे आगे दिखता रहा है। सिर्फ यही नहीं कांग्रेस के महिला घोषणापत्र का भी वह चेहरा रही हैं। वह लखनऊ के सरोजिनी नगर सीट से उम्मीदवार मानी जा रही थीं लेकिन उनकी जगह रुद्र दमन सिंह को टिकट दिया गया है। कांग्रेस ने गुरुवार को 125 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी जिसमें 40 फीसदी टिकट महिलाओं को दिया गया।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।