Jansandesh online hindi news

कानपुर से जुड़े दोनों संदिग्ध आतंकियों के तार

 | 
कानपुर से जुड़े दोनों संदिग्ध आतंकियों के तार

लखनऊ (Lucknow) के काकोरी इलाके से अल कायदा (Al Qaeda) के दो संदिग्ध आतंकियों की गिरफ़्तारी के बाद यूपी एटीएस (UP ATS) अब दोनों के मददगारों और साथियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. इसी क्रम में यूपी एटीएस को आतंकी साजिश के तार कानपुर (Kanpur) से जुड़ते नजर आ रहे हैं. यूपी एटीएस ने फंडिंग के शक में कानपुर के चमनगंज से एक बड़े बिल्डर को उठाया है. बिल्डर को हिरासत में लेने पर इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. इससे पहले भी सोमवार को यूपी एटीएस ने दो लोगों को कानपुर से हिरासत में लिया था

मिल रही जानकारी के मुताबिक मंगलवार देर रात यूपी एटीएस ने शहर के एक बड़े बिल्डर वसी को हिरासत में लेकर लखनऊ रवाना हुई है. बताया जा रहा है कि गिरफ्तार दोनों आतंकियों को फंडिंग करने के शक में वसी को हिरासत में लिया गया है. सूत्रों का कहना है कि बिल्डर वसी के खाते में विदेश से पैसे आए हैं. जिसके बाद शक के आधार पर एटीएस ने हिरासत में लिया है.

दोनों संदिग्ध 14 दिन की रिमांड पर
इससे पहले सोमवार को यूपी एटीएस ने गिरफ्तार दोनों संदिग्धों मसीरुद्दीन और मिनहाज को कोर्ट में पेश कर कस्टडी रिमांड मांगी। कोर्ट ने दोनों को 14 दिन की रिमांड पर जेल भेज दिया. अब यूपी एटीएस दोनों से उसके प्लान, मॉड्यूल और मददगारों के बारे में पूछताछ करेगी. गौरतलब है कि रविवार को यूपी एटीएस ने काकोरी और मड़ियांव इलाके से दोनों को गिरफ्तार किया था. दोनों के पास से प्रेशर कुकर बेम, पिस्तौल व अन्य विस्फोटक मिले थे.

15 अगस्त को थी यूपी को दहलाने की साजिश
एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने यूपी एटीएस की कार्रवाई पर कहा कि 15 अगस्त को यूपी के कई शहरों को दहलाने की कोशिश थी, जिसे नाकाम किया गया है. उन्होंने कहा कि यूपी एटीएस ने यह कार्रवाई पुख्ता सबूत के बाद की है. अभी पूछताछ जारी है और आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी