Jansandesh online hindi news

योगी सरकार का बड़ा आदेश-सभी सरकारी और प्राइवेट कंपनियों को कोरोना संक्रमित कर्मचारी को देनी होगी 7 दिन की ”लीव विद पे”

योगी सरकार ने एक बड़ा आदेश जारी किया, सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों में एक समय में सिर्फ 50 फीसद कर्मचारियों की ही मौजूदगी हो सकती है. इसके अलावा निजी कंपनियों में काम करने वाला कोई भी कर्मचारी अगर कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उसे 7 दिन ”लीव विद पे” दी जाए, यानी 7 दिन छुट्टी देने पर वेतन नहीं काटा जा सकेगा.

 | 
योगी सरकार का बड़ा आदेश-सभी सरकारी और प्राइवेट कंपनियों को कोरोना संक्रमित कर्मचारी को देनी होगी 7 दिन की ”लीव विद पे”

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए योगी सरकार ने एक बड़ा आदेश जारी किया है. सीएम योगी के आदेश के अनुसार, राज्य के तमाम सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों में एक समय में सिर्फ 50 फीसद कर्मचारियों की ही मौजूदगी हो सकती है. इसके अलावा निजी कंपनियों में काम करने वाला कोई भी कर्मचारी अगर कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उसे 7 दिन ”लीव विद पे” दी जाए, यानी 7 दिन छुट्टी देने पर वेतन नहीं काटा जा सकेगा.

बता दें कि यूपी में कोरोना संक्रमण अब तेजी से बढ़ रहा है. बीते एक सप्ताह में कोरोना के नए मामले 13 गुना बढ़ गए हैं. विगत रविवार को राज्य में जहां 552 नए कोरोना मामले मिले थे, वहीं सोमवार को कोविड के 8334 नए केस दर्ज किए गए हैं, अकेले लखनऊ में 1100 से ज्यादा नए मामले मिले हैं. इस अवधि में कोरोना संक्रमण से चार लोगों की जान भी गई है. नोएडा और लखनऊ में एक-एक हजार से ज्यादा कोरोना के नए केस मिले हैं. इस अवधि में कुल 253 लोग कोरोना को मात देकर रिकवर भी हुए हैं.

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने जानकारी दी है कि राज्य में बीते 24 घंटे में 253 और अब तक कुल 16,88,648 लोग कोविड-19 से रिकवर हो चुके हैं. यूपी में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद 25,974 हो गई है. जिसमें से 25,445 लोग होम आइसोलेशन में है. उन्होंने बताया है कि सूबे में कोरोना टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।