Jansandesh online hindi news

सपा की ‘साइकिल’ पर जल्द ही दिखेंगे आपको कांग्रेस का ये बड़े नेता

 | 
सपा की ‘साइकिल’ पर जल्द सवारी करेगा कांग्रेस का ये दिग्गज नेता

कहा जाता हैं कि सियासत में कोई स्थायी दोस्त और दुश्मन नहीं होता और सियासी लोग कब पाला बदल बैठे इस बात को भी कोई नहीं जानता। गुरुवार को पंजाब के मंत्री और विधायक लखीमपुर खीरी कूच करने को निकले, लेकिन सहारनपुर जिले के वरिष्ठ नेता इस आंदोलन से भी दूर रहे। राष्ट्रीय सचिव इमरान मसूद और विधायक नरेश सैनी व मसूद अख्तर भी शाहजहांपुर नहीं पहुंच सके। इसको लेकर सहारनपुर में फिर सियासी गलियारों में चर्चा हो रही है, लेकिन इमरान मसूद का दावा है कि पुलिस ने उन्हें सुबह से हाउस अरेस्ट किया हुआ था। जिस कारण वह घर से बाहर ही नहीं निकल सके। जबकि बीते बुधवार को भी जब जिले के कांग्रेस नेताओं ने रेलवे स्टेशन पर इकट्ठा होकर गिरफ्तारी दी। उस आंदोलन से भी तीनों प्रमुख नेताओं ने दूरी बनाए रखी।

सहारनपुर-हरियाणा बॉर्डर से बनाए रखी दूरी
गुरुवार को यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर स्थित पहले सहारनपुर की शाहजहांपुर चेक पोस्ट और फिर सरसावा थाने में घंटों हाई वोल्टेज ड्रामा चलता रहा। पंजाब से सैकड़ों गाड़ियों के काफिले के साथ कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने हरियाणा से जैसे ही यूपी की सीमा में प्रवेश किया। पहले से तैनात फोर्स और सहारनपुर के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने सिद्धू को रोक लिया गया। सिद्धू को अधिकारियों ने पहले शाहजहांपुर चेकपोस्ट पर समझाने की कोशिश की। बात नहीं बनने पर सिद्धू और उनके दो दर्जन समर्थकों को पुलिस हिरासत में लेकर सरसावा थाने आ गई। देर रात तक सिद्धू समर्थकों और पुलिस अधिकारियों में सहमति बन सकी। सहारनपुर में यह पूरा हाई वोल्टेज सियासी ड्रामा चार-पांच घंटों तक चला लेकिन कांग्रेस के कद्दावर और तेज तर्रार स्थानीय नेता इमरान मसूद ने इस प्रदर्शन से दूरी बना कर रखी। यहीं नहीं इमरान के नजदीकी कांग्रेस के दोनों विधायकों नरेश सैनी और मसूद अख्तर की इस प्रदर्शन से दूरी भी सियासी हलकों में चर्चा का केंद्र रही।

सपा के पथ पर चलने की तैयारी
विधानसभा चुनाव 2022 में अब चंद माह ही बचे हैं, ऐसे में सियासी हलचल तेज हो गई है। पिछले कुछ माह से कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और पूर्व विधायक इमरान मसूद के सपा में जाने की चर्चाएं तेज हैं। चंद दिनों पहले इन चर्चाओं पर खुद इमरान भी मुहर लगा चुके हैं। हालांकि अभी तक इमरान और सपा हाईकमान में खुलकर कोई भी समझौता नहीं हो पाया है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह jansandeshonline@gmail.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।