Home health क्या आप जानते हैं कि बच्चों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर क्यों बढ़ता...

क्या आप जानते हैं कि बच्चों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर क्यों बढ़ता है

75
0
https://i.ytimg.com/vi/DTi9TgE3KrY/maxresdefault.jpg

क्या आप जानते हैं कि बच्चों में भी कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है? यह थोड़ा अजीब लगता है क्योंकि हम आमतौर पर मानते हैं कि कोलेस्ट्रॉल की समस्या केवल वयस्कों में होती है। हालाँकि, यह समस्या बच्चों में भी होती है। और इसे नजरअंदाज करना ठीक नहीं है. आइए जानें कि बच्चों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर क्यों बढ़ता है और इसे कैसे नियंत्रण में रखा जाए।

बच्चों में कोलेस्ट्रॉल क्यों बढ़ता है?

खान-पान की आदतें: बच्चों में कोलेस्ट्रॉल का मुख्य कारण उनकी खान-पान की आदतें हो सकती हैं। फास्ट फूड, तले हुए खाद्य पदार्थ, चिप्स और कोल्ड ड्रिंक जैसे उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों के अत्यधिक सेवन से बच्चों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है।

आनुवंशिक कारणों से

कुछ बच्चे आनुवांशिक कारणों से भी हाई कोलेस्ट्रॉल का शिकार हो सकते हैं। अगर परिवार में किसी को ऐसी समस्या है तो संभावना है कि बच्चे को भी इसका सामना करना पड़े।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रण में कैसे रखें?

संतुलित आहार

अपने बच्चों के आहार में स्वस्थ भोजन शामिल करें। उन्हें ताजे फल और हरी सब्जियां खिलाएं। बादाम और अखरोट जैसे मेवे भी उनके लिए अच्छे होते हैं क्योंकि वे उन्हें ऊर्जा देते हैं और उनके मस्तिष्क को अच्छे आकार में रखते हैं। इसके अलावा, अपने आहार में चिकन और मछली जैसे दुबले मांस को भी शामिल करें क्योंकि ये प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं। ये सभी उत्पाद आपको स्वस्थ और मजबूत बनने में मदद करेंगे।

दैनिक व्यायाम

बच्चों को हर दिन खेलने और सक्रिय रहने का समय दें। इससे वे फिट रहते हैं और कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी नियंत्रण में रहता है। व्यायाम आपकी मांसपेशियों को मजबूत बनाता है, आपके दिल को स्वस्थ रखता है और आपके दिमाग को खुश रखता है। इससे उनके समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद मिलती है। इसलिए उन्हें रोजाना खेलने का समय देना बहुत जरूरी है। इससे वे स्वस्थ और प्रसन्न रहते हैं।

नियमित चिकित्सा परीक्षण

बच्चों को नियमित रूप से अपने डॉक्टर के पास जाना चाहिए और स्वयं जांच करानी चाहिए। इसका मतलब है कि किसी स्वास्थ्य समस्या की तुरंत पहचान की जा सकती है और समय पर इलाज शुरू किया जा सकता है। निवारक परीक्षाओं का आयोजन बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनना चाहिए।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।