Home राष्ट्रीय Brij Bhushan Singh Case: यौन उत्पीड़न के 10 मामले, 44 गवाह, छूने...

Brij Bhushan Singh Case: यौन उत्पीड़न के 10 मामले, 44 गवाह, छूने से लेकर पीछा

12
0

Brij Bhushan Singh Case: बीजेपी सांसद और भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष रहे बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है. बृजभूषण के खिलाफ महिला पहलवानों ने यौन उत्पीड़न जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. हालांकि अब तक उनके खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है. पुलिस ने इस मामले में 1599 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की है. जिसमें आरोपी बृजभूषण शरण सिंह और WFI सेक्रेटरी विनोद तोमर के खिलाफ केस का जिक्र है. इस चार्जशीट में कुल 44 विटनेस हैं. चार्जशीट में कुल 108 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं. जिनमें 15 लोगों ने पीड़ित रेसलर्स के समर्थन में बयान दिए हैं. 

पुलिस ने जुटाए सबूत-
चार्जशीट में आरोपों को साबित करने के लिए चार महत्वपूर्ण पॉइंट हैं. सबसे पहले 15 लोगों के बयान दर्ज हैं, इसके अलावा 6 महिला रेसलर के CRPC 164 के बयान, उसके बाद 2021 के बाद की एक घटना का सीडीआर है. क्योंकि 2021 से पहले का सीडीआर उपलब्ध नहीं है. पुलिस को चार फोटो मिली हैं, जिनमें हाथ मिलाते हुए और गले लगाते हुए फोटो शामिल है. हालांकि, पुलिस को करीब 30 फोटो मिली है लेकिन सिर्फ चार फोटो लिंक हो रही हैं. 

जरूरी बात ये है कि कोई भी डायरेक्ट एविडेंस यानी इस केस की जांच में पुलिस को अब तक कोई सीसीटीवी नहीं मिला है. 6 महिला रेसलरों की तरफ से जो शिकायत दी गई थी उसमे 10 ऐसे मामलों का जिक्र है जिसमें छेड़छाड़ का आरोप है. शिकायत के मुताबिक गलत तरीके से छूना, किसी बहाने से छाती के ऊपर हाथ रखने की कोशिश या हाथ रखना, छाती से पीठ तक हाथ को लेकर जाना, पीछा करना शामिल है. 

कई धाराओं के तहत मामला दर्ज-
ये शिकायत कनॉट प्लेस थाने में 21 अप्रैल को दी गई थी और दिल्ली पुलिस ने 28 अप्रैल को दो एफआईआर दर्ज की और फिर जून 15 को पुलिस ने राऊज एवेन्यू कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की. अब जानते हैं कि चार्जशीट में कौन-कौन सी धाराएं लगाई गई हैं. चार्जशीट में आईपीसी की धारा 354 (महिला की लज्जा भंग करने के इरादे से उस पर हमला या आपराधिक बल प्रयोग), 354ए (यौन उत्पीड़न), 354डी (पीछा करना) और 34 (सामान्य इरादे) का हवाला दिया गया है. जिसमें एक में पांच साल की जेल की सजा है. ये चार्जशीट छह वयस्क पहलवानों के आरोप पर दर्ज एफआईआर पर दाखिल की गई. जिन घटनाओं का उल्लेख किया गया है वे कथित तौर पर 2012 से 2022 तक भारत और विदेशों में हुईं. 

किस महिला पहलवान ने की क्या शिकायत-
पहली महिला रेसलर ने अपनी शिकायत में कहा है कि जब मेडल जीतने के बाद रेसलर अपने कोच के साथ बृजभूषण से मिलने गई तो उसने जबरन गले लगाने की कोशिश की. इस घटना के सबूत के तौर पर दो तस्वीरें पुलिस को दी गई हैं. इसके अलावा महिला रेसलर के पति और दो रेसलर ने पुलिस में बयान दर्ज कराएं हैं. 

दूसरी शिकायत भी गंभीर-
दूसरी महिला रेसलर की शिकायत के मुताबिक वो जब अपने कोच के साथ फेडरेशन के ऑफिस गई तो वहां बृजभूषण को उसने अपनी चोट के बारे में बताया, आरोप के मुताबिक जवाब में बृजभूषण ने कहा की पूरी मदद मिलेगी लेकिन बदले में उन्हें समझौता करना पड़ेगा. महिला रेसलर ने बताया कि अगस्त 2022 में भी मैट पर प्रैक्टिस के दौरान मेरी टीशर्ट ऊपर उठाकर मेरी सांस की जांच करने के बहाने गलत तरीके से छुआ, मैं डर गई थी. इसके अलावा मुझसे पर्सनल सवाल पूछते थे कि मेरा क्या कोई बॉयफ्रेंड है? 

इस मामले में पुलिस ने जांच में पाया की जिस कोच के साथ महिला रेसलर ने जाने की बात कही थी उस दिन उस कोच की लोकेशन उसी इलाके की आई है. विटनेस की बात करें तो इस मामले में पुलिस ने कोच के अलावा साथी लड़की रेसलर का बयान भी दर्ज किया जोकि बेहद महत्वपूर्ण है.  

तीसरी शिकायत –
तीसरी शिकायत में महिला रेसलर ने कहा, पूरी टीम की फोटो खींची जा रही थी. मैं आखिरी लाइन में थी. तभी मैंने देखा की बृजभूषण मेरे बगल में आकर खड़े हो गए और मेरे पीछे से गलत तरह से मुझे छुआ, जब मैंने जाने की कोशिश की तो कंधे पर हाथ रखकर जबरन रोका. इस मामले में पुलिस को दो रेफरियों के बयान भी मिले हैं, जिन्हें पुलिस ने दर्ज किया है. यहां से जुड़ी भी फोटो पुलिस को मिली है, एक फोटो में बृजभूषण पहलवानों के साथ फोटो खिंचवाते नजर आ रहे हैं, यहां बृजभूषण दूसरे पहलवानों के साथ पहली लाइन में हैं. 

चौथी रेसलर ने लगाए ये आरोप-
चौथी रेसलर ने दो घटनाओं का जिक्र किया है. पहली घटना में उसने बताया, जब मैं चटाई पर लेटी हुआ थी, आरोपी (सिंह) मेरे पास आया, मेरे कोच उस वक्त नहीं थे, मेरी अनुमति के बिना मेरी टी-शर्ट खींची, अपना हाथ मेरे ऊपर रख दिया छाती पर और मेरी श्वास की जांच के बहाने इसे मेरे पेट के नीचे सरका दिया. दूसरी घटना में फेडरेशन के ऑफिस में मैं अपने भाई के साथ थी, मुझे बुलाया और भाई को बाहर रुकने को कहा गया, फिर कमरे में अपनी तरफ खींचा. 

इस शिकायत की जांच में सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने अपनी चार्जशीट में सबूत के तौर पर बृजभूषण की मौके पर उपस्थिति साबित करने की कोशिश की है. इसके जुड़ी एक फोटो पुलिस को मिली है जिसने पीड़िता रेसलर दूसरे रेसलर और बृजभूषण के साथ एक फोटो में नजर आ रहे हैं. इससे दोनों की उपस्थिति एक जगह साबित हो रही है. विटनेस की बात करें तो इस मामले में पुलिस ने दो बयान भी दर्ज किए हैं, जो कि चार्जशीट का हिस्सा हैं. ये बयान महिला रेसलर के पति और भाई का है.

पांचवीं शिकायत- 
पांचवीं महिला रेसलर की शिकायत में कहा गया कि उसे फोटो खिंचवाने के बहाने बृजभूषण ने अपनी तरफ खींचा. इस शिकायत की जांच में फेडरेशन ने पुलिस को इस इवेंट से जुड़ी कुछ फोटो दी हैं, जिससे ये पता लग रहा है कि वहां उस इवेंट में बृजभूषण और पीड़ित रेसलर मौजूद है. इस मामले में दो रेसलर ने बयान दर्ज कराए हैं. 

छठी शिकायत में ये आरोप-
छठी शिकायत में महिला पहलवान ने बताया कि बृजभूषण ने माता-पिता से बात कराने को कहा, दरअसल मेरे पास मोबाइल नहीं था. उस वक्त आरोपी अपने बेड पर बैठा था, उसने अचानक से मुझे बिना मेरी इजाजत गले लगाया. पुलिस ने इस मामले में फेडरेशन से नोटिस देकर जवाब मांगा है, पुलिस ने पूछा है कि कौन लोग वहां मोजूद थे और इवेंट से जुड़ी कितनी फोटो मोजूद है, ताकि जांच में सहयोग मिले. इस मामले में मां और दो साथी रेसलर ने बयान दिया है.

चार्जशीट में रेसलर्स के की तरफ से दिए गए अलग-अलग घटना से जुड़े फोटोग्राफ और व्हाट्सऐप स्क्रीनशॉट्स भी शामिल हैं. इसके अलावा कुल 30 फोटोग्राफ और कुछ फोटो के प्रिंटआउट जोकि रेसलर्स ने दिए वो भी लगाए गए हैं. 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।