Home राष्ट्रीय Pandit Jawaharlal Nehru Birth Anniversary: भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेता कैसे...

Pandit Jawaharlal Nehru Birth Anniversary: भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेता कैसे बनें जवाहरलाल नेहरू

21
0

Pandit Jawaharlal Nehru Birth Anniversary: जवाहरलाल नेहरू भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता और पहले प्रधानमंत्री थे। वे 14 नवम्बर 1889 को इलाहाबाद में पैदा हुए थे और 27 मई 1964 को निधन हुए। उन्हें चाचा नेहरू के नाम से भी जाना जाता है। नेहरू जी ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और स्वतंत्रता संग्राम के बाद भारतीय स्वतंत्रता संगठन की नींव रखी। उन्होंने चाचा नेहरू के रूप में बच्चों के प्रति विशेष स्नेह और उनके भविष्य के लिए शिक्षा के क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया।

नेहरू जी का जन्म 14 नवम्बर 1889 को इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश में हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा इंग्लैंड में प्राप्त की और वह कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। उन्होंने फिर इंग्लैंड के हररो और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से भी शिक्षा प्राप्त की। नेहरू जी का राष्ट्रीय योगदान अत्यधिक महत्वपूर्ण था। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के दौरान गांधी जी के साथ काम किया और स्वतंत्रता संग्राम के बाद भारतीय संघर्ष में नई दिशा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

जवाहरलाल नेहरू का राजनीतिक इतिहास:

नेहरू जी का राजनीतिक सफर 1920 में गांधीजी के आदर्शों का पालन करते हुए शुरू हुआ, जब वे गांधीजी के साथ खिलाफत आंदोलन और स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिए। वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य बन गए और गांधीजी के साथ आंदोलनों में भाग लिए, जिनमें नमक सत्याग्रह और व्यक्तिगत असहमति के बावजूद अनिवार्य थे।

नेहरू जी का राजनीतिक संरक्षण महत्वपूर्ण रूप से पांच सालों के भ्रष्टाचार और आराजकता के बाद शुरू हुआ, जिसके बाद वे स्वतंत्रता संग्राम के नेतृत्व में आए। उन्होंने ब्रिटिश साशन के खिलाफ भारतीय जनता को एकजुट किया और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख नेता बने।

स्वतंत्रता संग्राम के बाद, जवाहरलाल नेहरू 1947 में स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री बने और 1964 तक इस पद पर रहे। उनका प्रधानमंत्री बनना भारतीय गणराज्य के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, और उन्होंने आर्थिक और सामाजिक विकास के कई महत्वपूर्ण कदम उठाए। 

जवाहरलाल नेहरू प्रधानमंत्री बनने के बाद, उन्होंने भारतीय समाज के सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं बनाई। उन्होंने पंचवर्षीय योजना की शुरुआत की, जिसका उद्देश्य भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत करना था।

नेहरू जी ने भारतीय संविधान के निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और सभी नागरिकों के अधिकारों की सुरक्षा की दिशा में कई सुधार किए। उन्होंने भारतीय संविधान के मुख्य लेखक डॉ. भीमराव अंबेडकर के साथ मिलकर इसे तैयार किया।

नेहरू जी का प्रधानमंत्री बनने के बाद, वे विश्व मामलों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाए और भारत को विश्व मंच पर प्रतिष्ठितता दिलाने के लिए कई अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर अपनी दृष्टि रखी। वे शांति और युद्धकाल के समय में भारतीय संवाददाता के रूप में अपनी भूमिका निभाते रहे।

नेहरू जी का राजनीतिक यात्रा भारतीय इतिहास में महत्वपूर्ण है, और उन्होंने अपने दौरे के दौरान भारतीय समाज को एक मोड़न दिशा में ले जाने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए। उनका योगदान आज भी हमारे देश के स्वतंत्रता और सामाजिक सुधार के प्रति याद किया जाता है।

जवाहरलाल नेहरू के विचार:

जवाहरलाल नेहरू के विचार भारतीय राजनीति और समाज के विकास में महत्वपूर्ण थे। उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान और स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में अपने विचार प्रकट किए।

सोशलिज्म: नेहरू जी का एक प्रमुख विचार था कि समाज में सामाजिक और आर्थिक न्याय स्थापित किया जाना चाहिए। उन्होंने सोशलिज्म के मूल्यों का पालन किया और समाज में गरीबी और असमानता के खिलाफ खड़े होने की बढ़ती मांग को समझा।

शिक्षा: नेहरू जी का मानना था कि शिक्षा ही एक समृद्धि और सामर्थ्य की कुंजी है। उन्होंने शिक्षा के महत्व को प्रमुखता दी और भारतीय जनता के लिए विशेष रूप से बच्चों के लिए शिक्षा के अधिकार को प्रमोट किया।

अंतरराष्ट्रीय योजनाएँ: नेहरू जी ने भारत को विश्व मंच पर मजबूत करने के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग को महत्वपूर्ण माना। उन्होंने नमक सत्याग्रह के समय की तरह भारत को विश्व के साथ सांघठित करने का प्रयास किया और नेहरूविय नीतियों के माध्यम से भारत की विश्व राजनीति में मान्यता हासिल करने के लिए कई अंतरराष्ट्रीय योजनाएँ बनाई।

सेक्यूलरिज्म: नेहरू जी का दूसरा महत्वपूर्ण विचार सेक्यूलरिज्म था। उन्होंने भारत को एक सेक्यूलर देश के रूप में देखा और अलग-अलग धर्मों के लोगों के साथ विविधता का समर्थन किया।

नेहरू जी के विचार भारतीय समाज के सामाजिक और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण थे और उनकी नेतृत्व में भारत एक मजबूत और आधुनिक राष्ट्र के रूप में विकसित हुआ।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।