Home politics Asaduddin Owaisi On Uniform Civil Code: कार्यकर्ता मुसलमान के घर बुलडोजर चला...

Asaduddin Owaisi On Uniform Civil Code: कार्यकर्ता मुसलमान के घर बुलडोजर चला रहे, मोदी जी मुसलमान के लिए आंसू बहा रहे

36
0

Asaduddin Owaisi On Uniform Civil Code:  एआईएमआईएम (AIMIM) चीफ असुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के बयान को लेकर तंज कसते हुए कहा- मोदी जी ने समान नागरिक सहिंता व पसमादा मुसलमान को लेकर बयान दिया है .ऐसा मालूम होता है उन्होंने बराक ओबामा की बात को समझा नही.एक बात बताइए मोदी जी आप क्या हिन्दू अभिभाजित परिवार को खत्म करेंगे. एक तरफ आपके कार्यकर्ता मुसलमान के साथ दोहरा व्यवहार कर रहे हैं, उनकी मस्जिदों को तोडा जा रहा है, उनके घरों पर बुलडोजर चल रहा है और आप उनके लिए आंसू बहा रहे हैं.

उन्होंने आगे कहा- आज अगर देश में पसमादा मुसलमान के साथ गलत व्यवहार हो रहा है, उनका शोषण किया जा रहा है तो उसका कारण आप हैं. आपको उनसे वोट मांगने से पूर्व माफी मांगनी चाहिए. आपके सहयोगियों के उनके घर-घर जाकर उनके साथ किये गए अभद्र व्यवहार हेतु माफी मांग लेनी चाहिए. कैसी आप लोगों ने मिलकर उनके  नबी-ए-करीम  का मजाक बनाया.

मुझे एक बात नहीं समझ आती मोदी जी पाकिस्तान के कानून से प्रेरित क्यों है. तीन तलाक पाकिस्तान में बंद है. भारत में यह कानून तो बन गया लेकिन जमीनी स्तर पर यह काम करते नही दिखा. यह एक कानून दस्तावेज रह गया. सोचा गया था इसके आने से महिलाओं के शोषण पर प्रतिबन्ध लगेगा. लेकिन महिलाओं का शोषण बढ़ गया .यदि कोई कानून बनता है तो वह समाज सुधार के उद्देश्य से बनना चाहिए. उन मर्दों के खिलाफ सख्त कानून बनने चाहिए जो अपनी पत्नी को शादी के बाद कहीं छोड़कर भाग जाते हैं.

जानें क्या बोले मोदी :

मोदी ने लोगों को समान नागरिक सहिंता के नाम पर भडकाने का काम किया जा रहा है. देश दो तरह के कानून पर कैसे चल सकता है जब देश संविधान के मुताबिक़ कार्य कर रहा है. संविधान भारत के प्रत्येक नागरिक को समान अधिकार देने की बात करता है, सुप्रीम कोर्ट भी बार-बार इसी बात पर जोर दे रहा है. लेकिन यह लोग अपने हित हेतु लोगों को भडकाने का काम कर रहे हैं. जो लोग आज तीन तलाक का समर्थन करते हैं वह मुस्लिम बेटियों के साथ अनन्या कर रहे हैं तीन तलाक से सिर्फ एक बेटी नहीं अपितु पूरा परिवार तबाह हो जाता है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।