Home राष्ट्रीय Barack Obama Remarks: भारत के मुस्लिमों का सऊदी, UAE और मिस्र से...

Barack Obama Remarks: भारत के मुस्लिमों का सऊदी, UAE और मिस्र से क्या लेना देना?

15
0

Asaduddin Owaisi On Nirmala Sitharaman: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा पर उनके भारत के मुसलमानों की सुरक्षा पर दिए गए बयान को लेकर निशाना साधा था. अब वित्त मंत्री के इस बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने सोमवार (26 जून) को पलटवार किया.  

महाराष्ट्र के अमरावती में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा, “हमारी केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा पर उनके भारतीय मुसलमानों के अधिकारों को लेकर दिए गए बयान को लेकर निशाना साधा. वित्त मंत्री ने कहा कि आपके (ओबामा के) कार्यकाल में आपने कई मुस्लिम देशों में बमबारी की थी. पीएम मोदी को 13 देशों ने अपने शीर्ष राजकीय सम्मान से सम्मानित किया है. जिनमें से छह मुस्लिमों बहुल देशों ने पीएम को इन पुरस्कारों से नवाजा है.”

दूसरे देशों के मुसलमानों पर ओवैसी का बयान

उन्होंने कहा, “इन देशों में सऊदी अरब, यूएई, मिस्र और अन्य देश शामिल हैं तो मैं अपनी वित्त मंत्री साहिबा को बताना चाहता हूं कि मैडम अमरावती और भारत के मुसलमानों का सऊदी अरब के पीएम-राष्ट्रपति से कोई कनेक्शन नहीं है. अमरावती के मुसलमान का यूएई के राष्ट्रपति से कोई रिश्ता नहीं है. मिस्र के सीसी से हमें कोई मतलब नहीं है. अब आप एंटी नेशनल बात कर रही हो. भारत के 20 करोड़ मुसलमानों को इरान, यूएई, मिस्र, इरान के नेताओं और मुसलमानों से क्या करना.”

ओवैसी का RSS को लेकर बयान

ओवैसी ने आगे कहा, “हम भारतीय मुस्लिम हैं. वहां पर बादशाहत है मैडम लेकिन यहां पर अंबेडकर का बनाया हुआ संविधान है. आप भारत के मुसलमानों को इन देशों से जोड़ रही हो. अब आरएसएस वाले कहते हैं कि ओवैसी तुम उस मुल्क में चले जाओ. अब इनको कौन बताए कि हमने 1947 में फैसला ले लिया था कि हम भारत में रहेंगे. ये हमारी सरजमीं है. जहां पर हमारे पूर्वजों ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी, फांसी पर चढ़ गई. काला पानी की सजा भुगती. हमने भारत को पसंद को किया. हमारी वफादारी की निशानियां भारत के कब्रिस्तान में नजर आएंगी.”

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।