Home राष्ट्रीय Manipur Violence: मणिपुर की घटना पर मायावती ने की संसद में सार्थक...

Manipur Violence: मणिपुर की घटना पर मायावती ने की संसद में सार्थक चर्चा की मांग

14
0

Mayawati On Manipur Violence: मणिपुर में दो महिलाओं के साथ किए गए बर्बरतापूर्ण व्यवहार और हैवानियत को बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने बेहद शर्मनाक बताया है. वहीं इस घटना को लेकर हो रही राजनीति पर भी चिंता जताई है. बसपा सुप्रीमो (BSP) ने कहा कि मणिपुर की घटना दिल दहला देने वाली है. आरोपियो को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए ताकि इस तरह की घटनाएं फिर से न हो सके. वहीं उन्होंने इस मुद्दे पर संसद में सार्थक चर्चा की भी मांग की. उन्होंने कहा कि ये घटना बेहद गंभीर है इस पर संसद में सार्थक चर्चा होनी चाहिए.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि मणिपुर में भीड़ ने जो महिलाओं के साथ किया वो दिल दहला देने वाला है. इस घटना के आरोपियों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए इसके साथ ही उन्होंने घटना पर हो रही राजनीति पर भी चिंता जताई और कहा कि इस गंभीर मुद्दे पर संसद में सार्थक चर्चा हो. मायावती ने कहा, ‘मणिपुर में महिलाओं के साथ भीड़ द्वारा जो दरिन्दगी की गई वह अत्यन्त ही दुःखद, शर्मनाक तथा दिल को दहलाने वाली घटना है.. राज्य व केन्द्र की सरकार को भी ऐसे आपराधिक तत्वों को इतनी सख़्त सज़ा दिलवानी चाहिए कि इस प्रकार के जघन्य अपराध की आगे कहीं भी पुनरावृत्ति ना हो सके.

संसद में हो सार्थक चर्चा

मायावती ने आगे कहा, ‘लेकिन इस घटना को लेकर अब जो राजनीति की जा रही है वह भी अनुचित एवं चिन्तनीय.. संसद में इस पर जरूर सार्थक चर्चा होनी चाहिए… जबकि इस घटना का माननीय सुप्रीम कोर्ट ने भी खुद संज्ञान लिया है जिसे दबाया नहीं जा सकता है… अर्थात् मणिपुर की दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर सभी को गंभीर होना जरूरी..’

आपको बता दें कि मणिपुर की घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश है, वायरल वीडियो 4 मई का है, जिसमें दो महिलाओं को निर्वस्त्र करके उनकी परेड कराई जा रही है, यही नहीं इस दौरान उनके साथ बर्बर तरीके से अभद्रता की जाती है और फिर गैंगरेप किया गया. इस घटना ने पूरे देश को झकझौर दिया है. पुलिस ने अब तक चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें एक खुयरूम हेरादास भी है, गुस्साई भीड़ ने आरोपी का घर जला दिया है. 

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।