Home politics NDTV-CSDS Survey: ‘INDIA’ के आने से बढ़ेगी एनडीए की टेंशन

NDTV-CSDS Survey: ‘INDIA’ के आने से बढ़ेगी एनडीए की टेंशन

33
0

Lok Sabha Election Survey: 2024 के महामुकाबले का मंच तैयार हो चुका है. पीएम मोदी के नेतृत्व में एनडीए का रथ रोकने के लिए कांग्रेस समेत 26 विपक्षों दलों ने I.N.D.I.A नाम से नया गठबंधन किया है. गठबंधन के ऐलान के बाद 2024 की जंग दिलचस्प होती जा रही है. इस बीच सीएसडीएस के एक सर्वे के आंकड़े ने पीएम मोदी के लिए खतरे की घंटी बजा दी है.

एनडीटीवी के लिए सीएसडीएस ने ये सर्वे इसी साल मई में मोदी सरकार के 9 साल पूरे होने किया था, लेकिन विपक्षी दलों के गठबंधन के बाद इसके आंकड़े एक बार फिर से प्रासंगिक हो गए हैं. वैसे तो सर्वे के अनुसार, नरेंद्र मोदी देश के सबसे पॉपुलर नेता हैं और अपने विरोधियों से काफी आगे हैं, लेकिन इसी सर्वे के आंकड़ों को अध्ययन करें तो बीजेपी को चिंता करने की जरूरत है. पहले सर्वे के आंकड़े जान लेते हैं.

कांग्रेस के मुकाबले बीजेपी काफी आगे

सर्वे के अनुसार, वोटिंग शेयर के मामले में बीजेपी अपनी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस से काफी आगे है. सर्वे में शामिल 39 फीसदी लोगों ने बताया था कि अगर अभी चुनाव होते हैं, तो वे बीजेपी को वोट करेंगे. ध्यान देने की बात है कि सर्वे में बीजेपी का वोट शेयर बढ़ा है. 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 37.7 प्रतिशत वोट मिले थे.

सर्वे में कांग्रेस को 29 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान लगाया था, जो कि 2019 के मुकाबले काफी अच्छी बढ़त है, लेकिन ग्रैंड ओल्ड पार्टी अभी भी बीजेपी से 10 फीसदी के अंतर से पीछे है. आंकड़ों में बीजेपी की बढ़त के बावजूद उसके लिए चिंता करने की वजह मौजूद है.

कम हो सकता है अंतर

भले ही सर्वे में बीजेपी आगे है लेकिन ध्यान देने की बात है कि ये आंकड़े एनडीए और विपक्ष के गठबंधन के नहीं हैं. इसलिए सर्वे के वोट शेयर में अंतर आ सकता है, खास तौर पर जब चुनाव के पहले नए गठबंधन बन रहे हैं.

ये महत्वपूर्ण है कि सर्वे में अन्य को जा रहा 28 प्रतिशत वोट बीजेपी और कांग्रेस की सहयोगी पार्टियों को मिलता दिखाया गया था. 2019 के बाद से देश की राजनीति में नया समीकरण बना है. विपक्ष का कुनबा बढ़ा है, जबकि नीतीश कुमार की जेडीयू, शिवसेना का उद्धव ठाकरे गुट और शिरोमणि अकाली दल जैसे एनडीए के बड़े सहयोगी साथ छोड़ चुके हैं.

कांग्रेस के वोटों का बढ़ना बीजेपी के लिए टेंशन

बीजेपी के लिए दूसरी चिंता कांग्रेस के वोटों का तेजी से बढ़ना है. सर्वे में बीजेपी को 39 प्रतिशत, जबकि कांग्रेस को 29 प्रतिशत वोट मिलने का अनुमान लगाया गया है. खास बात ये है कि बीजेपी के वोट शेयर में सिर्फ 1.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई है जबकि 2019 की तुलना में कांग्रेस का वोट शेयर 9.3 प्रतिशत ऊपर आया है. 2019 के आम चुनाव में कांग्रेस को 19.67 प्रतिशत वोट मिले थे.

महंगाई-भ्रष्टाचार पर मोदी सरकार के लिए चिंता वाली बात

सर्वे में पीएम मोदी 43 प्रतिशत वोट के साथ अभी भी देश के नंबर 1 नेता हैं, लेकिन देश में घरेलू मुद्दे खासतौर पर महंगाई को लेकर जनता की राय मोदी सरकार को लेकर ठीक नहीं है. सीएसडीएस के सर्वे के आंकड़े बताते हैं कि 57 प्रतिशत लोग वस्तुओं की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार से खुश नहीं हैं. 33 प्रतिशत ने कहा है कि सरकार महंगाई पर ठीक काम कर रही है भ्रष्टाचार पर 45 प्रतिशत ने मोदी सरकार के प्रदर्शन को खराब बताया है, जबकि 41 प्रतिशत ने इसे ठीक कहा है.

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।