Home politics कर्नाटक : उपमुख्यमंत्री शिवकुमार ने बेंगलुरु में कचरा कर लगाने के संकेत...

कर्नाटक : उपमुख्यमंत्री शिवकुमार ने बेंगलुरु में कचरा कर लगाने के संकेत दिए

27
0

ऐसे समय में जब लोग गुस्से में हैं और विपक्षी भाजपा बिजली दरों में बढ़ोतरी को लेकर आड़े हाथ ले रही है, उपमुख्यमंत्री डी.के. शिवकुमार ने बुधवार को बेंगलुरु में कचरा कर लगाने का संकेत दिया। सिस्टम और नागरिकों के बीच इंटरफेस प्रदान करने वाले ब्रांड बेंगलुरु पोर्टल का उद्घाटन करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए शिवकुमार ने कहा कि कई शहरों में कचरा उपकर लगाया जाता है।

उन्होंने कहा, हमें बेंगलुरु में कचरा उपकर जमा करने और बिजली के बिलों में शामिल करने का सुझाव मिला है। शिवकुमार ने कहा कि बेंगलुरु की आबादी 1.60 करोड़ है। आधिकारिक आंकड़े इसे 1.30 करोड़ बताते हैं। शहर में प्रतिदिन लगभग 50 लाख लोग आते हैं और जो लोग नौकरी के लिए यहां आते हैं, वे यहां की प्रकृति की सराहना करने के बाद बसने का निर्णय लेते हैं। जो भी बेंगलुरु आता है, वह अपने मूल स्थानों पर वापस नहीं जाएगा।

उन्होंने कहा, मैं बेंगलुरु का निवासी हूं। मैं जनता की राय लेने के लिए उद्यम कर रहा हूं और बिल्डरों और उद्योगपतियों की राय पहले ही एकत्र कर चुका हूं। वरिष्ठ नागरिकों की राय भी मानी जाती है। मैं पूर्व सीएम से मिलूंगा और पूर्व सीएम बसवराज बोम्मई से समय मांगूंगा। शिवकुमार ने कहा, “कई शहरों में कचरे के लिए सेस वसूला जाता है और सुझाव दिया जाता है कि यहां भी हमें कचरे पर सेस जमा करना चाहिए। उन्होंने इसे बिजली बिल में जोड़ने का सुझाव दिया है। लेकिन, इसे बिजली बिल में जोड़ना संभव नहीं है।”

शिवकुमार ने कहा, बेंगलुरु शहर के मानकों को और ऊपर उठाने के लिए पोर्टल लॉन्च किया गया है। कई इलाकों में फुटपाथ की समस्या है और शहर में यातायात को संभालने वाले सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधिकारियों की राय ली जाती है। सुरंग बनाने के लिए एक राय है जो कर सकते हैं बसों और ट्रेनों की आवाजाही की सुविधा। जयदेव अस्पताल के पास की परियोजना को इस संबंध में एक पायलट माना जाता है।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।