Home धार्मिक 22 से शुरू चैत्र नवरात्र, जरूर करें यह काम नहीं तो आएगी...

22 से शुरू चैत्र नवरात्र, जरूर करें यह काम नहीं तो आएगी समस्या

19
0

धर्म – हिंदुओ का महा पर्व चैत्र नवरात्र 22 मार्च से शुरू हो रहा है। नवरात्र का समापम 30 मार्च हो होगा। नवरात्र का पर्व मां दुर्गा को समर्पित है। इसमें माता रानी की विधि विधान से उपासना की जाती है। कई घरों में कलश स्थापित करके माता रानी का 9 दिनों व्रत किया जाता है।

धार्मिक ग्रंथों को मुताबिक अगर कोई नवरात्रि के दिनों विधि से माता की आराधना करता है। दुर्गा चालीसा का नित्य पाठ करता है। अंतिम दिन माता का घर मे हवन करवाता है। कन्या भोज करवाता है और दान पुण्य करता है। उसका माता का आशीर्वाद प्राप्त होता है और उसके घर मे सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।
वहीं अगर आप अपने घर में नवरात्रि के दिन ये कुछ विशेष काम कर लेते हैं। तो माता दुर्गा की कृपा सदैव आपपर बनीं रहती है। 

सफाई-

नवरात्रि में सभी को अपने घर के साथ -साथ मन्दिर को विशेष तरीके से साफ करना चाहिए। घर से सभी नकारात्मक वस्तु को बाहर निकाल देना चाहिए। कूड़े कबाड़ को घर मे नही रखना चाहिए। इससे घर मे सुख समृद्धि बनी रहती है।

भोजन में बदलाव-

नवरात्र में घर मे सात्विक भोजन करना चाहिए। कोशिश करें कि घर मे 9 दिन लहसुन प्याज वाला भोजन न बने। कोई कोई नवरात्र के दिन मसालेदार लहसुन-प्याज युक्त भोजन करता है तो उससे माता दुर्गा रूष्ट हो जाती हैं। घर कलेश आता है और लोग मानसिक तनाव से परेशान रहते हैं।

बाल कटवाना-

कुछ लोगों की आदत होती है वह रोज सेविंग करते हैं। अपने बाल कटवाते हैं। आपको कोशिश करनी चाहिए कि नवरात्र में आप ऐसा न करें। इससे सफलता के मार्ग बन्द हो जाते हैं और आपको बार-बार समस्याओं से जूझना पड़ता है।

मदिरा से परहेज-

मंदिरा का सेवन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह होता है। लेकिन अगर कोई नवरात्र में दिनों में मंदिरा का सेवन करता है तो उसे अनेकों प्रकार के कष्ट झेलनें पड़ते हैं। उसके घर मे सुख-समृद्धि का वास नहीं होता है। व्यक्ति बीमार रहता है। घर का वातावरण नकारात्मक ऊर्जा से भर जाता है। लोगों का स्वभाव असुरिय हो जाता है और माता रानी ऐसे लोगों से सदैव रूष्ट रहती हैं।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।