Home धार्मिक ऐसी पत्नी से अच्छा है बिना पत्नी के ….जीवन

ऐसी पत्नी से अच्छा है बिना पत्नी के ….जीवन

21
0

लाइफस्टाइल- पति-पत्नी(Husband wife relationship) के बिना जीवन अधूरा है। जब युवक-युवती एक दूसरे से विवाह करते हैं और एक दूसरे के साथ पति-पत्नी के रिश्ते से जुड़ते हैं। तो व्यक्ति का जीवन कई फेरबदल देखता है। वहीं आचार्य चाणक्य(Acharya Chanakya) ने पति-पत्नी के रिश्ते को लेकर कई बड़ी बातें कही हैं। 

आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya say about husband and wife relationship) का कहना है कि सुखी जीवन के लिए पत्नी का होना आवश्यक है। पत्नी घर को सुख से भर देती है। बिना पत्नी के एक व्यक्ति का जीवन बेहतर नहीं गुजरता। लेकिन अगर किसी व्यक्ति की पत्नी बुरी है। वह घर को जोड़कर नहीं रखना जानती। उसमें धैर्य नहीं है। उसकी अभिलाषाएं अधिक हैं और वह समर्पण से दूर रहती है। तो व्यक्ति के पास पत्नी न हो तो उसका जीवन सुखमय व्यतीत होता है।
आचार्य चाणक्य(Acharya Chanakya) के मुताबिक इस स्वभाव की पत्नी-पति(husband-wife) के जीवन को कष्ट से भर देती हैं। घर मे नकारात्मक ऊर्जा(Negative energy) का प्रभाव बढ़ता है। व्यक्ति गलत दिशा में आगे बढ़ने लगता है।
आचार्य चाणक्य(Acharya Chanakya) ने कैटिल्य शास्त्र(kautilya Shastra) में कहा है कि, अगर आपका मित्र पापी है तो आप बिना मित्र के रहिए। अगर आपकी पत्नी पापिनी है तो आप बिना विवाह के या बिना पत्नी के रहिए। वहीं अगर आपका गुरु मूर्ख है, वह आपको सकारात्मक (positive)मार्ग पर आगे बढ़ने की प्रेरणा नहीं दे पा रहा है तो आप बिना गुरु के अपना जीवन व्यतीत कीजिए।

Text Example

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।